जूते में लेस के लिए एक्स्ट्रा होल क्यों

1.

जूते में लेस के लिए एक्स्ट्रा होल क्यों

2.

आपने देखा होगा कि आपके स्नीकर्स के नॉर्मल लेस के जो होल होते हैं उसके पास में दो एक्स्ट्रा होल भी हैं। ये एक्स्ट्रा होल क्यों होते हैं?

3.

ये एक्स्ट्रा होल मैनुफैक्चरिंग डिफेक्ट नहीं है और न ही जूते में पसीना कम करने के लिए ही होते हैं।

4.

दरअसल, ये एक्स्ट्रा होल 'हील लॉक' करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। नॉर्मल लेस के बायें और दायें छोर को इन होल से गुजारते हैं।

5.

लेस को इस एक्स्ट्रा होल से जूते के अंदर की ओर खींचते हैं। इससे दोनों ओर लूप तैयार होता है।

6.

अब बायें लेस को दाएं लूप में और दाएं लेस को बाएं लूप में निकालते हैं। इस तरह गांठ लगाने को हील लॉक या लेस लॉक कहते हैं।

7.

कई लोगों को दौड़ते या चलते समय जूते के अंदर पैर स्लिप करने की शिकायत होती है। हील लॉक से ये परेशानी दूर हो जाती है।

8.

इस मेथेड से लेस बांधने से जूता पैरों में पूरी तरह ठीक बैठता है। जूते के अंदर कम से कम घर्षण होता है।

9.

जिन लोगों को एड़ी में ब्लिस्टर या फफोले होने की शिकायत होती है उन्हें हील लॉक टेकनीक का इस्तेमाल करना चाहिए।

10.

एथलीट अपनी रनिंग बेहतर बनाने के लिए मोटे मोजे पहनते हैं। लेकिन हील लॉक होने से पतले मोजे भी पहने जा सकते हैं।