रवींद्र जडेजा के पिता चाहते थे- बेटा फौजी बने

1.

रवींद्र जडेजा के पिता चाहते थे-बेटा फौजी बने

2.

महेंद्र सिंह धोनी ने रविंद्र जडेजा से इंप्रेस होकर ट्वीट किया था कि भगवान ने जब महसूस किया कि रजनी सर बूढ़े हो रहे हैं तब उन्होंने रवींद्र जडेजा को बनाया।

3.

2012 में जडेजा दुनिया के आठवें और पहले ऐसे भारतीय क्रिकेटर बने जिसने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तीन ट्रिपल सेंचुरी मारी।

4.

जडेजा के नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 200 विकेट लेने का भी रिकॉर्ड है। कभी लूना से मैच खेलने जाने वाले जडेजा, आज ऑडी औरबीएमडब्लू जैसी गाड़ियों के मालिक हैं।

5.

क्या आप जानते हैं कि रविंद्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध सिंह चाहते थे कि बेटा फौज में जाए, लेकिन जडेजा की मां का सपना था कि बेटा क्रिकेटर बने।

6.

जडेजा की मां अपने बेटे को कभी टीम इंडिया की जर्सी में देख नहीं सकीं। साल 2005 में हुई एक कार दुर्घटना में उनका निधन हो गया था।

7.

रवींद्र जडेजा उस समय 17 साल के थे। जडेजा को ब्लू जर्सी में खेलने का पहला मौका 10 फरवरी 2009 को मिला।

8.

गुजरात के जामनगर में जडेजा का शाही लुक वाला डिजाइनर बंगला है। इस चार मंजिला बंगले में बड़े दरवाजे से लेकर पुराने डिजाइन के फर्नीचर और झूमर हैं।

9.

जडेजा का एक फार्म हाउस भी है। उनके फार्म हाउस का नाम 'मिस्टर जड्डू का फार्म हाउस' है।

10.

रविंद्र जडेजा के कार कलेक्शन में FordEndeavour, Audi Q7 बीएमडब्ल्यू एक्स 1  जैसी कार शामिल हैं। उनके पास हायाबुसा बाइक भी है।