साबुन-मोमबत्ती-परफ्यूम बेचती थी कोलगेट

1.

साबुन-मोमबत्ती-परफ्यूम बेचती थी कोलगेट

2.

आप जानते हैं कि 200 से भी ज्यादा साल पुरानी टूथपेस्ट कंपनी कोलगेट की शुरुआत टूथपेस्ट बनाने से नहीं हुई।

3.

शुरुआती दौर में कंपनी कोलगेट नाम से साबुन-मोमबत्ती-परफ्यूम बनाया करती थी।

4.

आज यही कोलगेट भारत और अमेरिका की सबसे लोकप्रिय टूथपेस्ट बनाने वाली कंपनी है।

5.

भारत में ‘ब्रांड इक्विटी मोस्ट ट्रस्टेड ब्रांड्स’ की सूची में टॉप-5 में रह चुकी कोलगेट के पूर्व सीईओ राम राघवन कहते हैं कि कोलगेट कीसफलता का राज बदलाव है।

6.

कोलगेट इन दिनों रिसाइक्लेबल टूथपेस्ट ट्यूब बना रही है। जो पहले के मुकाबले 16% हल्के होंगे और इनमें 16% कम प्लास्टिक का इस्तेमाल होगा।

7.

ओरल केयर के बाजार में टेक्नोलॉजी रुकावट नहीं है, यहां टक्कर मार्केटिंग की है और इसमें कोलगेट ने हमेशा से बाजी मारी।

8.

कोलगेट की 1980 में भारतीय बाजार में अच्छी-खासी पकड़ थी। फिर क्लोज-अप आया और इसने टूथपेस्ट का रंग-रूप और स्वाद का अहसास पूरी तरह बदल दिया।

9.

कोलगेट शुरू में प्रतिस्पर्धियों के प्रोडक्ट लॉन्च का इंतजार करती है। अगर उनका प्रोडक्टसफल है तो वह उसी सेगमेंट में अपने प्रोडक्ट लॉन्च कर देती है।

10.

कंपनी रिसर्च पर बहुत ज्यादा पैसा खर्च नहीं करती, ब्रांड रिकॉल वैल्यू के कारण लोग खुद-ब-खुद कोलगेट के प्रोडक्ट खरीद लेते हैं।