No Title Found

1.

बहादुर शाह जफर काला जादू पर करते थे भरोसा

2.

अंग्रेजों के खिलाफ बगावत के लिए दोषी आखिरी मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर को रंगून भेज दिया गया था। वहीं उन्होंने आखिरी सांस ली।

3.

शेरो-शायरी के शौकीन बहादुर शाह जफर गंडे-ताबीजों पर भरोसा करते थे। उनके आसपास अक्सर कई सारे पीर और फकीर का डेरा लगा रहता था।

4.

मशहूर इतिहासकार विलियम डैलरिंपल ने अपनी किताब 'द लास्ट मुगल' में लिखा कि बादशाहको बवासीर की बीमारी थी, जिससे ठीक करने केलिए उन्होंने गंडे-ताबीजों का सहारा लिया था।

5.

एक बार जब वह बुरी तरह बीमार हुए तो उन्होंने दर्जनों सूफी पीरों को बुलवा भेजा उन्हें लग रहा था कि उन पर किसी ने काला जादू कर दिया है।

6.

बादशाह पेट की बीमारी से अक्सर परेशान रहते थे। इस बीमारी से बचने के लिए वो खास नग की भारी-भरकम अंगूठी पहना करते थे।

7.

बहादुर शाह जफर ऐसे बादशाह थे जिन्होंने गौ हत्या पर रोक लगा दी थी। उन्होंने कहा था कि मुसलमानों का धर्म गाय की कुर्बानी पर निर्भर नहीं करता।

8.

लाइफ & स्टाइल की औरस्टोरीज के लिए क्लिक करें

9.

10.